Opinion by Ajay Kumar Sharma | Opined

Ajay Kumar Sharma
Ajay Kumar Sharma Oct 14, 2020

#मनुस्मृति

आत्मा का चिंतन,
निर्जन वन मे एकान्त वास करते हुये ,
एकाकी रहकर ही करना चहिए!
एकाकी भाव से आत्मचिंतन करने वाला मुनुष्य ही परम श्रेय(मोक्ष) का भागी बनता है!

#श्लोक

एकाकी चिन्तयेन्नित्यं विविक्ते हितमात्मनि!
एकाकी चिन्त्यमानो हि परं श्रेयोअ्धिगच्छति!!

#culture