Opinion by ROOPALI PATHAK | Opined

ROOPALI PATHAK
ROOPALI PATHAK Jun 14, 2020

ना ज़िन्दगी का पता है ना जीत का,
खुद में ही कहीं हम खो गए हैं,
फर्क नहीं पड़ता अब हार है या
फ़लसफ़ा अंधकार का.......
#live #selfCompassion